Duniya Ka Sabse Anmol Ratan

December 8, 2020
Duniya Ka Sabse Anmol Ratan

दिलफ़िगार एक कँटीले पेड़ के नीचे दामन चाक किये बैठा हुआ खून केआँसू बहा रहा था। वह सौन्दर्य की देवी यानी मलका दिलफ़रेब का सच्चा औरजान देने वाला प्रेमी था। उन प्रेमियों में नहीं, जो इत्र-फुलेल मेंबसकर और शानदार कपड़ों से सजकर आशिक के वेश में माशूक़ियत का दम भरतेहैं। बल्कि उन सीधे-सादे भोले-भाले फ़िदाइयों में जो जंगल और पहाड़ोंसे सर टकराते हैं और फ़रियाद मचाते फिरते हैं। दिलफ़रेब ने उससे कहाथा कि अगर तू मेरा सच्चा प्रेमी है, तो जा और दुनिया की सबसे अनमोलचीज़ लेकर मेरे दरबार में आ तब मैं तुझे अपनी गुलामी में क़बूलकरूँगी। अगर तुझे वह चीज़ न मिले तो ख़बरदार इधर रुख़ न करना, वर्नासूली पर खिंचवा दूँगी। दिलफ़िगार को अपनी भावनाओं के प्रदर्शन का,शिकवे-शिकायत का, प्रेमिका के सौन्दर्य-दर्शन का तनिक भी अवसर न दियागया। दिलफ़रेब ने ज्यों ही यह फ़ैसला सुनाया, उसके चोबदारों ने ग़रीबदिलफ़िगार को धक्के देकर बाहर निकाल दिया। और आज तीन दिन से यह आफ़तका मारा आदमी उसी कँटीले पेड़ के नीचे उसी भयानक मैदान में बैठा हुआसोच रहा है कि क्या करूँ। दुनिया की सबसे अनमोल चीज़ मुझको मिलेगी?नामुमकिन! और वह है क्या? क़ारूँ का ख़जाना? आबे हयात? खुसरो का ताज?जामे-जम? तख्तेताऊस? परवेज़ की दौलत? नहीं, यह चीज़ें हरगिज़ नहीं।दुनिया में ज़रूर इनसे भी महँगी, इनसे भी अनमोल चीज़ें मौजूद हैं मगरवह क्या हैं। कहाँ हैं? कैसे मिलेंगी? या खुदा, मेरी मुश्किल क्योंकरआसान होगी?